चुनाव आयोग ने लोकसभा और राज्यों के विधानसभा चुनाव एक साथ कराए जाने के प्रधानमन्त्री मोदी के फार्मूले का समर्थन किया है. इस संबंध में आयोग ने कानून मंत्रालय को पत्र भी लिखा है. ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ की खबर के माने तो मई के पहले सप्ताह में आयोग ने इस बारे में कानून मंत्रालय को लिखा.

दो पेज के पत्र में आयोग ने कहा है कि वह एक साथ चुनाव कराए जाने के विचार का समर्थन करता है. आयोग ने लिखा है कि यदि राजनीतिक दलों में सहमति बन जाती है तो लोकसभा और विधानसभा चुनाव एकसाथ कराना बहुत मुश्किल काम नहीं है. यह बात चुनाव आयोग ने कानून मंत्रालय के उस पत्र के जवाब में कही है जिसमें कानून मंत्रालय ने इस बारे में संसदीय समिति की 79वीं रिपोर्ट के बारे में आयोग की प्रतिक्रिया मांगी थी.

कुछ समय पूर्व बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में पीएम मोदी ने चुनावों में पैसे और समय की बचत के लिए पूरे देश में एक साथ चुनाव कराने का आइडिया दिया था. उन्होंने कहा था कि पंचायत, शहरी निकायों, राज्यों और लोकसभा के चुनाव एक साथ कराए जाएं. इससे राजनीतिक और सामाजिक कार्यकर्ताओं को भी लोगों से जुड़ने का ज्यादा वक्त मिलेगा.

अगली स्लाइड पर देखे :

loading...