आपने ग्रंथो और धार्मिक पुराणो में अनेकों कथाय पड़ी होंगी जिनमे राक्षस हमेशा हवन पूजा आदि का विरोध करते थे उनको रोकने के प्रयास करते थे। अब यह सब कलयुग में भी देखने को आ रहा है पहले जे न यु में महिसासुर पूजा फिर कन्हैया को नितीश का समर्थन और उसके बाद नितीश द्वारा हवन पर रोक। उससे तो यही लगता है राक्षस फिर से आ गए है जो हिन्दू धर्म को नष्ट करने में लगे है। अगर आपको प्रदुषण कम करना है तो क्यों और उपाय नहीं अपनाय जाते, क्या हिन्दू धर्म पर आघात करना ही एकमात्र उपाय रह गया है? बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने अधिकारियों से कहा है कि वे लोगों को निर्देश जारी कर लोगों से सुबह 9 से शाम 6 बजे तक आग नहीं जलाने को कहे। उन्होंने यह भी कहा कि अगर कहीं किसी पूजा स्थल पर ‘हवन’ का कार्यक्रम हो रहा है तो उस पर भी विशेष ध्यान दिया जाए।

इस समीक्षा बैठक में नीतीश कुमार के अलावा बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह और राज्य पुलिस प्रमुख पीके ठाकुर समेत सचिवालय के कई बड़े अधिकारी मौजूद थे।

(इस लेख के विचार पूर्णत: निजी हैं, एवं vaartaa.in इसमें उल्‍लेखित बातों का न तो समर्थन करता है और न ही इसके पक्ष या विपक्ष में अपनी सहमति जाहिर करता है। आप लेख पर अपनी प्रतिक्रिया info@vaartaa.in पर भेज सकते हैं। ब्‍लॉग पोस्‍ट के साथ अपना संक्षिप्‍त परिचय और फोटो भी भेजें।)

loading...