IIT खड़गपुर और भारतीय पुरातत्व विभाग के वैज्ञानिकों ने सिंधु सभ्यता की प्राचीनता से संबंधित जो नए तथ्य रखे हैं उसके मुताबिक यह सभ्यता 5,500 साल नहीं बल्कि 8,000 साल पुरानी थी। वैज्ञानिकों का शोध प्रतिष्ठित शोध पत्रिका ‘नेचर’ में 25 मई को प्रकाशित हुआ है । इस रिसर्च की माने तो सिंधु सभ्यता, मिस्र और मेसोपोटामिया की सभ्यता से पहले की है।

वैज्ञानिकों के शोध में यह बात सामने आई है कि 3000 वर्ष पहले सिंधु सभ्यता मौसम में बदलाव के चलते समाप्त हो गई। IIT खड़गपुर के भूगर्भशास्त्र विभाग के प्रमुख अनिंदय सरकार के अनुसार हमने सिंधु सभ्यता की प्राचीन मिट्टी के बर्तन ढूंढ़े हैं। यह 6000 वर्ष पुराने पाए गए हैं और हड़प्पा सभ्यता की शुरुआत 8,000 साल पहले होने के प्रमाण भी मिले हैं।’ शोधार्थियों के अनुसरा सिंधु घाटी सभ्यता का विस्तार देश के बड़े हिस्से में था।

loading...