जटायु के बारे में रामायण में उल्लेख है कि जब राक्षस रावण माता सीता का अपहरण करके ले जा रहा था तो पक्षीराज जटायु माता सीता की मदद करने आये. उनका रावण से घनघोर युद्ध हुआ और वे घायल होकर गिर गये थे. जहा वे गिरे थे आज उसी स्थान पर जटायु का विश्व का सबसे विशालतम स्कल्पचर बनाकर तैयार किया गया है. यह केरल के कोल्लम जिले के चदयामंगलम गांव में ‘जटायु नेचर पार्क’ के नाम से है.

अगले पेज पर जाय:

1 of 3

loading...